Wednesday, 21 February 2024

 

 

खास खबरें संदेशखाली की घटना भाजपा की सोची समझी साजिश - आप प्रवक्ता नील गर्ग बंगाल में सरदार आईपीएस अधिकारी को खलिस्तानी बोले जाने की घटना की आम आदमी पार्टी ने की सख्त निंदा, कहा - भाजपा ने सिख धर्म का अपमान किया है बेला फार्मेसी कॉलेज में मां बोली दिवस मनाया गया कांगड़ा जिला में 03 मार्च को पिलाई जाएगी पोलियो की खुराक: डी सी डा हेमराज बैरवा राज्यपाल शिव प्रताप शुक्ल को विश्वभर में श्री राम पर जारी स्मारक डाक टिकट की पुस्तिका भेंट की प्रतिष्ठित पीईसी के पूर्व छात्र डॉ. रूप लाल महाजन ने पीईसी का दौरा किया विख्यात फिल्म निर्माता एवं निर्देशक विवेक अग्निहोत्री बने मानव मन्दिर के ब्रांड एम्बेसेडर 10,000 रुपये रिश्वत लेते हुए ए.एस.आई को विजीलैंस ने किया काबू नगर निगम कर्मचारियों के नाम पर 30,000 रुपए की रिश्वत लेने वाला विजीलैंस ब्यूरो द्वारा काबू प्रधानमंत्री ने जम्मू-कश्मीर में 32,000 करोड़ रुपये से अधिक की कई विकास परियोजनाओं का उद्घाटन किया, राष्ट्र को समर्पित किया और आधारशिला भी रखी पंजाब में नहरी पानी के बुनियादी ढांचे नहरों और खालों को मज़बूत किया जायेगा : चेतन सिंह जौड़ामाजरा चंडीगढ़ मेयर चुनाव में आखिरकार संविधान और लोकतंत्र की हुई जीत- अरविंद केजरीवाल चंडीगढ़ मेयर चुनाव : सुप्रीम कोर्ट का फैसला लोकतंत्र की जीत - आप राजभवन में अरूणाचल प्रदेश और मिज़ोरम का स्थापना दिवस आयोजित पर्यटन व संस्कृति विभाग की ओर से 1 से 5 मार्च तक होगा ‘होशियारपुर नेचर फेस्ट’: कोमल मित्तल चेतन सिंह जौड़ामाजरा द्वारा तलवंडी भाई और ज़ीरा में संशोधित पानी को सिंचाई के लिए बरतने के प्रोजेक्टों का उद्घाटन 3000 रुपए की रिश्वत लेता सीनियर कॉन्स्टेबल विजीलैंस ब्यूरो द्वारा काबू राज्यपाल ने दिव्यांगजनों के समावेशी विकास में चेतना संस्था के प्रयासों को सराहा मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू ने लोक निर्माण विभाग के 15 टिप्परों को रवाना किया सीजीसी लांडरां के सीबीएसए ने वित्तीय सम्मेलन की पृष्ठभूमि पर प्रतियोगिता का आयोजन किया शहर वासियों को पीने वाला साफ पानी मुहैया करवाने में नहीं छोड़ी जा रही है कोई कमी: ब्रम शंकर जिंपा

 

नरेंद्र मोदी को हर हाल में माफी मांगनी पड़ेगी : गुलाम नबी आजाद

गुलाम नबी आजाद
गुलाम नबी आजाद
Listen to this article

Web Admin

Web Admin

5 Dariya News

नई दिल्ली , 20 Dec 2017

कांग्रेस अपनी इस मांग पर बुधवार को अड़ी रही कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह पर की गई टिप्पणी के लिए हर हाल में माफी मांगनी होगी। मोदी ने मनमोहन सिंह पर 'पाकिस्तान के साथ षड्यंत्र' रचने का आरोप लगाया था। कांग्रेस की मांग है कि मोदी आरोपों को लेकर माफी मांगे या फिर सदन में आरोपों को साबित करें।पार्टी ने सुझाव दिया कि मोदी इस बात को स्वीकार कर सकते हैं कि उनकी यह टिप्पणी 'एक राजनीतिक स्टंट थी और गुजरात चुनाव जीतने के लिए की गई थी' और वह अब इसे वापस ले रहे हैं। राज्यसभा में विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद ने संसद के बाहर संवाददाताओं से कहा, "प्रधानमंत्री ने वरिष्ठ नेताओं के साथ वरिष्ठ अधिकारियों, मनमोहन सिंह और पूर्व उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी व पूर्व सेना प्रमुख दीपक कपूर के खिलाफ गंभीर आरोप लगाए थे।"

आजाद ने कहा, "यह कोई सामान्य आरोप नहीं है। मनमोहन सिंह राज्यसभा के सम्मानित सदस्य हैं। अगर प्रधानमंत्री सार्वजनिक रूप से कह रहे हैं कि मनमोहन जी पाकिस्तान के साथ मिलकर षड्यंत्र कर रहे हैं तो यह एक गंभीर आरोप है।" कांग्रेस नेता ने कहा कि अगर यह सच है तो प्रधानमंत्री को आरोप साबित करने चाहिए।उन्होंने कहा, "हमारी उनके साथ कोई निजी लड़ाई नहीं है। अगर प्रधानमंत्री को माफी मांगना मुश्किल लग रहा है, तो उन्हें संसद में आना चाहिए और कहना चाहिए कि 'भाजपा गुजरात में हार रही थी, इसलिए यह एक राजनीतिक स्टंट था।' यह कांग्रेस को राष्ट्र विरोधी साबित करने की साजिश थी।"आजाद ने कहा, "उन्हें संसद में आना चाहिए और कहना चाहिए कि उनका काम हो गया है और वह अपनी टिप्पणी वापस ले रहे हैं। हम इसे स्वीकार कर लेंगे। अगर यह सच है तो उन्हें हमें सजा देनी चाहिए। हम इसके लिए तैयार हैं।"

आजाद ने कहा, "हम प्रधानमंत्री का सम्मान करते हैं। हम उनके प्रति अपमान नहीं दिखाना चाहते हैं। यह कोई निजी लड़ाई नहीं है। यह उनकी जिम्मेदारी है कि वह जनता के सामने जो कुछ भी कहते हैं, उसे संसद में आकर कहने का साहस करें।"नेता ने कहा कि उन्होंने अध्यक्ष को सूचित किया था कि यह बिल्कुल गलत है। उन्होंने कहा, "जब एक सदस्य संसद में नहीं होता है, और मनमोहनजी एक सौम्य व्यक्ति हैं, तो यह एक गलत मिसाल पेश करता है। हम प्रधानमंत्री के खिलाफ विशेषाधिकार हनन का कोई प्रस्ताव नहीं चाहते। इसलिए एक नरम तरीका अपना रहे हैं।" लोकसभा में कांग्रेस के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा, "प्रधानमंत्री ने मनमोहन सिंह का अपमान करने का प्रयास किया था। हम चाहते हैं कि उन्हें संसद में आना चाहिए या इस बात का स्पष्टीकरण देना चाहिए कि इस तरह के आरोपों का क्या कारण है।" 

उन्होंने कहा, "यदि उनके (मोदी) पास सबूत हैं तो उन्हें प्राथमिकी दर्ज करानी चाहिए और उन लोगों को गिरफ्तार किया जाना चाहिए। उन्होंने मनमोहन सिंह की देशभक्ति पर सवाल उठाए हैं।"खड़गे ने कहा, "हम चाहते हैं कि संसद में इसका खुलासा होना चाहिए और उन्हें इस बारे में संसद में बात करनी चाहिए। अगर उनके पास सबूत हैं तो उन्हें इसे संसद में रखने चाहिए, क्योंकि उन्होंने (मोदी) राष्ट्र विरोधी गतिविधियों का खुलासा करने का वादा किया था।"उन्होंने कहा, "प्रधानमंत्री के पास एक संवैधानिक दर्जा है। वह संस्थानों का अपमान नहीं कर सकते। जब तक वह स्पष्टीकरण नहीं देते तब तक हम नहीं रुकेंगे।"खड़गे ने कहा, "शून्यकाल के दौरान हमारी सांसद रंजीता रंजन को भी सवाल पूछने की इजाजत नहीं दी गई। उनसे सवाल बदलने के लिए कहा गया।"

 

Tags: Ghulam Nabi Azad

 

 

related news

 

 

 

Photo Gallery

 

 

Video Gallery

 

 

5 Dariya News RNI Code: PUNMUL/2011/49000
© 2011-2024 | 5 Dariya News | All Rights Reserved
Powered by: CDS PVT LTD