Friday, 24 May 2024

 

 

खास खबरें डीड राइटर और उसका सहायक 22,5000 रुपए की रिश्वत लेने के दोष अधीन विजीलैंस ब्यूरो द्वारा गिरफ़्तार एक्टिंग चीफ़ जस्टिस द्वारा इंडियन लॉ रिपोर्ट्स के फ़ैसलों की आसानी से खोज के लिए ई-एच.सी.आर वैबसाईट का उद्घाटन आप का पीएम मोदी पर पलटवार, कहा - मुख्यमंत्री भगवंत मान तीन करोड़ पंजाबियों की पसंद 82 संपत्तियों की खरीद में लगा सुधीर का काला धन : मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू मुख्यमंत्री भगवंत मान ने जालंधर से आप उम्मीदवार पवन कुमार टीनू के लिए किया प्रचार प्रवासियों के खिलाफ है कांग्रेस : संजय टंडन अग्निपथ योजना पर कांग्रेस का दोहरा मापदंड : संजय टंडन शहर के बीचों-बीच बाजारों में चले गुरजीत सिंह औजला प्रधानमंत्री मोदी की फतेह रैली का गवाह बने पटियाला के एक लाख से अधिक लोग पंजाब में बिजली को लेकर हाहाकार : विजय इंदर सिंगला आम आदमी पार्टी के प्रदेश सचिव संजीव राही सहित सुपर्णा शर्मा व कई नेता भाजपा में शामिल पंजाब में लगातार मजबूत हो रही आप, शिरोमणि अकाली दल और कांग्रेस को बड़ा झटका! कई बड़े नेता आप में शामिल भगवंत मान जी, महिलाओं को एक हजार रुपये महीना कब मिलेगा? : गुरजीत सिंह औजला प्रधानमंत्री को लोगों को उनकी पार्टी के लिए मतदान के लिए डराने के बजाय यह बताना चाहिए कि वे देश को आगे कैसे लेकर जाएंगी : सुखबीर सिंह बादल लुधियाना पूर्वी में चुनाव अभियान के दौरान राजा वड़िंग ने बदलाव की वकालत की 'जुमलेबाजों' और उनकी 'जुमलेबाजी' से सावधान रहें : अमरिन्दर सिंह राजा वड़िंग श्री आनंदपुर साहिब की आवाज संसद में उठाऊंगा: डा. सुभाष शर्मा श्री आनंदपुर साहिब के बहुमुखी विकास के लिए डॉ. सुभाष शर्मा ने जारी किया संकल्प पत्र इंडोनेशियाई प्रतिनिधि सभा और अंतर-संसदीय संघ द्वारा 10वें विश्व जल मंच पर संसदीय बैठक का आयोजन किया गया जीनगर समाज के लिए कलस्टर बनाकर रोजगार को देंगे बढ़ावा:एन.के.शर्मा मैं आज जो कुछ भी हूं वह सभी बरनाला निवासियों के सहयोग और समर्थन के कारण हूं: मीत हेयर

 

महबूबा ने बच्चों की मासूमियत, शिक्षा की सुरक्षा के लिए की अपील

नोबल पुरस्कार विजेता कैलाश सत्यार्थी ने बच्चों की शिक्षा की रक्षा के लिए अपील की

Listen to this article

Web Admin

Web Admin

5 Dariya News

श्रीनगर , 09 Oct 2017

बच्चों को भविष्य का खजाना बताते हुए मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने आज उनके बचपन, जो दुर्भाग्य से अनिश्चितताओं या राजनीतिक उथल-पुथल के कारण बाधित हो गए, की सुरक्षा में समाज के सभी वर्गों से अपनी भूमिका निभाने के लिए अपील की।आज यहां बाल शोशण के बारे में जागरुकता बढ़ाने पर एक समारोह को संबोधित करते हुए, मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य के बच्चों के मुद्दे उनके समकक्षों की तुलना में और कहीं बड़ा हैं। उन्होंने कहा कि यहां के बच्चें दुर्भाग्य से हिंसा और अनिश्चितता के शिकार हुए हैं, इस प्रकार उनका निर्दोष बचपन लूटता हैं।कैलाश सत्यार्थी फाउंडेशन के सहयोग से जम्मू एवं कश्मीर रारज्य महिला आयोग ने इस समारोह का आयोजन किया था।महबूबा मुफ्ती ने माता-पिता और शिक्षकों से बच्चों की देखभाल करने के लिए समान रूप से, उनके साथ अपना समय साझा करने और उनके मुद्दों को सुनने की अपील की । उन्होंने समारोह आयोजित करने के लिए आयोजकों की सराहना की जिसमें उन्होंने कहा कि बाल शोशण के बारे में लोगों के बीच जागरूकता के स्तर को बढ़ाया जाएगा, जिस पर अक्सर किसी का ध्यान नहीं जाता। उन्होंने बाल शोशण के अपराधों के खिलाफ आवाज उठाने के लिए कहा।

कैलाश सत्यार्थी की भूमिका और योगदान की सराहना करते हुए मुख्यमंत्री ने आशा व्यक्त की कि उनके अनुभव बच्चों और राज्य सरकार के लिए फायदेमंद होंगे। उन्होंने आशा व्यक्त की कि नोबल पुरस्कार विजेता, राज्य के बच्चों को किसी भी तरह की व्यवधान या कठिनाई के बिना उनकी शिक्षा में मदद करेगा।महबूबा मुफ्ती ने आशा व्यक्त की कि बच्चों के बीच जागरूकता के स्तर को बढ़ाने के लिए इस तरह की पहल की गई है। उन्होंने महिला आयोग की अध्यक्ष से कहा कि इस तरह के जागरूकता सभी राज्यों में भी आयोजित करें।अपने भावपूर्ण भाषण में, नोबल पुरस्कार विजेता और बाल अधिकार कार्यकर्ता कैलाश सत्यार्थी ने बच्चों के अधिकारों, विशेष रूप से उनके बचपन और उनकी शिक्षा की रक्षा के लिए अपील की। उन्होंने कहा कि एक बच्चे को चोट से पूरे मानवता को दर्द होता है। उन्होंने कहा कि बच्चों की निर्दोशता हमें जीवन की सादगी के बारे में बहुत कुछ बताती है और लोगों के सभी वर्गों को उनकी मासूमियत की रक्षा के लिए अपील की है।

अध्यक्ष, जी मीडिया लिमिटेड डॉ सुभाष चंद्र ने भी इस अवसर पर संबोधित किया और इसके लिएअपने समर्थन का वचन दिया।इससे पहले उनके स्वागत भाषण में, राज्य महिला आयोग की चेयरपर्सन नईमा अहमद महजूर ने राज्य में बच्चों की स्थिति का अवलोकन दिया। उन्होंने कहा कि छात्रों के बीच बहुत ही अनुकूल ड्रॉप आउट दर होने के बावजूद जीवन में तकनीकी हस्तक्षेप ने नई चुनौतियों पेश की है। उन्होंने कहा, इसके लिए,  बाल सुरक्षा तंत्र को मजबूत किया जाना चाहिए।इस अवसर पर प्रतिभागियों ने समाज में बाल शोषण को रोकने के लिए काम करने का प्रतिज्ञा ली। बाल अधिकार कार्यकर्ता, वरिष्ठ अधिकारी और कई स्कूलों के छात्र उपस्थित थे।बाद में, मुख्यमंत्री ने कैलाश समिति द्वारा भारत यात्रा के अगले चरण को रवाना किया।बाल शोषण के बारे में जागरूकता फैलाने के लक्ष्य से यात्रा 11 सितंबर को कन्याकुमारी से शुरू हुई थी और अब तक 11 हजार किलोमीटर का सफर तय किया है और 16 अक्टूबर को राष्ट्रीय राजधानी में संपन होने की उम्मीद है।

 

Tags: Mehbooba Mufti , Kailash Satyarthi

 

 

related news

 

 

 

Photo Gallery

 

 

Video Gallery

 

 

5 Dariya News RNI Code: PUNMUL/2011/49000
© 2011-2024 | 5 Dariya News | All Rights Reserved
Powered by: CDS PVT LTD