Wednesday, 24 July 2024

 

 

खास खबरें यह आम बजट विकसित भारत के निर्माण में एक नया अध्याय लिखेगा : नायब सिंह सैनी कावड़ यात्रा के दौरान श्रद्धालुओं की सुरक्षा के लिए किए गए पुख्ता इंतजाम, चप्पे चप्पे पर पुलिस की कड़ी नजर मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में हुई एचपीपीसी और एचपीडब्ल्यूपीसी की बैठक रसिका दुगल और गुलशन देवैया की 'लिटिल थॉमस' का IFFM 2024 में वर्ल्ड प्रीमियर होगा विजिलेंस ब्यूरो ने पी.एस.आई.ई.सी. प्लॉट आवंटन घोटाले में शामिल उप-मंडल इंजीनियर को किया गिरफ्तार मुख्यमंत्री सुखविंद्र सिंह सुक्खू ने केंद्रीय बजट को निराशाजनक और किसान विरोधी बताया गरीब कल्याण को समर्पित बजट से अर्थव्यवस्था को मिलेगी नई रफ्तार : संजय टंडन ‘सरकार बचाओ-महंगाई बढ़ाओ’ वाला है मोदी सरकार का बजट- आप मुख्यमंत्री सुखविंद्र सिंह सुक्खू ने विद्यार्थियों की कम संख्या वाले स्कूलों के विलय की संभावनाएं तलाशने के निर्देश दिए राज्य एकल खिड़की स्वीकृति एवं अनुश्रवण प्राधिकरण की 29वीं बैठक में 2216.93 करोड़ रुपये के प्रस्तावित निवेश एवं 25 परियोजना प्रस्तावों को स्वीकृति प्रदान सी जी सी झंजेड़ी कैंपस में नए सत्र की शुरुआत के दौरान विद्यार्थियों के लिए एक सप्ताह का इंडक्शन प्रोग्राम आयोजित किया गया हरचंद सिंह बरसट ने पौधे लगाकर किया मिनी जंगल का उद्घाटन 'खतरों के खिलाड़ी' की कड़ी तैयारी के तहत निमृत कौर अहलूवालिया ने MMA, किक बॉक्सिंग की शुरुआत की धारकंडी क्षेत्र के विकास के लिए तत्परता से किया जाएगा कार्य : केवल सिंह पठानिया बेहतर भविष्य के लिए युवा नेता: लुधियाना के छात्र ‘यंग चैंपियंस फॉर क्लीन एयर प्रोग्राम’ के माध्यम से वायु गुणवत्ता वकालत में निभाएंगे अग्रणी भूमिका डेढ़ साल में 25 हज़ार करोड़ क़र्ज़ लेने वाले मुख्यमंत्री बताएं कहां खर्च किया पैसा : जयराम ठाकुर मलविंदर कंग ने पूर्व हॉकी खिलाड़ी बलबीर सिंह सीनियर को भारत रत्न देने की मांग की डिप्टी कमिश्नर कोमल मित्तल ने मासिक बैठक में अलग-अलग विभागों के कार्यो की समीक्षा की प्रदेश में स्वास्थ्य सुविधाएं बढ़ाने के लिए सरकार प्रतिबद्ध : मुख्यमंत्री सुखविंद्र सिंह सुक्खू डॉ. एसएस आहलूवालिया ने पटियाला क्षेत्र के अंतर्गत चल रहे विकास कार्यों की समीक्षा की विकास कार्यों को जल्द पूरा करने के अधिकारियों को दिए निर्देश कैबिनेट मंत्री ब्रम शंकर जिंपा ने नंद किशोर महामंत्र संकीर्तन मंडल को दिया 3 लाख रुपए का चैक

 

वानिकी क्षेत्र के प्रति गंभीर और प्रतिबद्ध हों : अनिल माधव दवे

Listen to this article

Web Admin

Web Admin

5 Dariya News

नई दिल्ली , 18 Dec 2016

पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) अनिल माधव दवे ने युवा वन अधिकारियों से वानिकी क्षेत्र के प्रति गंभीर और प्रतिबद्ध होने का आग्रह करते हुए जोर दिया कि व्यवस्था को भ्रष्टाचार मुक्त बनाने के लिए जहां तक संभव हो वित्तीय लेनदेन नकदी रहित अथवा कम नकदी में होना चाहिए। उत्तराखंड के देहरादून में शनिवार को इंदिरा गांधी राष्ट्रीय वन अकादमी (आईजीएनएफए) में भारतीय वन सेवा के 2016-2018 बैच के अधिकारियों के लिए प्रशिक्षण कार्यक्रम में अपने उद्घाटन संबोधन में मंत्री ने यह भी संकेत दिया है कि सभी गतिविधियों को डिजिटल बनाने की दिशा में प्रयास किए जाने चाहिए। इसके पश्चात, भारतीय वानिकी अनुसंधान एवं शिक्षा परिषद (आईसीएफआरई) की अपनी यात्रा के दौरान उन्होंने कहा कि वन क्षेत्र के आसपास रहने वाले लोगों की आजीविका और आर्थिक स्थिति को बढ़ाने देने के लिए ध्यान अनुसंधान पर केन्द्रित होना चाहिए ताकि लोगों को और अधिक विकसित करते हुए जंगलों के बाहर वृक्ष लगाने के प्रेरित किया जा सके।एफआरआई के बोर्ड रूम में आईसीएफआरई (अनुसंधान) के महानिदेशक डॉ जी. एस. गोराया और आईसीएफआरई के उपमहानिदेशक डॉ. शशि कुमार द्वारा परिषद की उपलब्धियों और भविष्य की योजनाओं पर एक प्रस्तुति दी गई। 

मंत्री ने संग्रहालयों का भी दौरा करके वन उत्पादों, गैर लकड़ी वन उत्पादों और एफआरआई के कीट विज्ञान संग्रहालयों की भी जानकारी ली। एफआरआई की निदेशक डॉ सविता ने वन उत्पाद विभागों के प्रमुखों के साथ इन संग्रहालयों में रखे गए विभिन्न उत्पादों की जानकारी दी। मंत्री ने संग्रहालयों के रखरखाव की स्थिति पर प्रसन्नता जताते हुए संतोष व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि नमूनों के संग्रह और विशेष रूप से विभिन्न देशों की मूल लकड़ी की प्रजातियों के विशाल संग्रह को देखकर वे प्रभावित हुए हैं। हालांकि उन्होंने इस संग्रहालय को आगंतुकों के लिए इस अनमोल संग्रह और वानिकी विज्ञान के बारे में अधिक जानकारी देने और इसके महत्व पर शोध करने की जरूरत पर बल दिया।अनिल माधव की यह किसी भी पहाड़ी राज्य की पहली आधिकारिक यात्रा है। दवे 16 दिसंबर को चार दिवसीय यात्रा पर देहरादून पहुंचे। इस अवसर पर पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्रालय के सचिव ए.एन.झा, मंत्रालय के महानिदेशक, वन एवं विशेष सचिव डॉ एस.एस.नेगी और एमओईएफसीसी के अलावा वन अनुसंधान संस्थान, इंदिरा गांधी राष्ट्रीय वन अकादमी, भारतीय वानिकी अनुसंधान एवं शिक्षा परिषद (आईसीएफआरई) के अन्य वरिष्ठ अधिकारियों भी उपस्थित थे।

 

Tags: Anil Madhav Dave

 

 

related news

 

 

 

Photo Gallery

 

 

Video Gallery

 

 

5 Dariya News RNI Code: PUNMUL/2011/49000
© 2011-2024 | 5 Dariya News | All Rights Reserved
Powered by: CDS PVT LTD