Thursday, 18 April 2024

 

 

खास खबरें बचपन में वेटरिनेरियन बनना चाहती थी नरगिस फाखरी PEC हमेशा से जसपाल जी की दूसरी मां थीं'': सविता भट्टी संत श्री बाल योगेश्वर दास जी महाराज जी ने किया भव्य मंदिर का उद्घाटन संजय टंडन ने समाज में वरिष्ठ नागरिकों की महत्वपूर्ण भूमिका पर जोर दिया पंजाब पुलिस ने 72 घंटों में विश्व हिंदु परिषद के नेता का कत्ल केस सुलझाया; दो हमलावर काबू श्री राम मंदिर अज्ज सरोवर विकास समिति खरड़ की तरफ से राम नवमी के अवसर पर महा प्रभात फेरी निकाली गई न्यूरो डायवर्जेंट व्यक्तियों को सपोर्ट करने की आवश्यकता-सान्या मल्होत्रा तमन्ना भाटिया और राशि खन्ना ने 'अरनमनई 4' के गाने 'अचाचो' में तापमान बढ़ाया सैकड़ों कार्यकर्ताओं के साथ पूर्व मंत्री अनिल विज ने अंबाला से लोकसभा चुनाव प्रचार की प्रत्याशी बंतो कटारिया के साथ चुनाव प्रचार का किया आगाज अमरिन्दर सिंह राजा वड़िंग ने श्री मां चिंतपूर्णी मंदिर में माथा टेका आशीर्वाद मुख्य सचिव ने डा भीमराव अम्बेडकर की जयंती कार्यक्रम में बाबा साहेब को किया नमन, अर्पित किए श्रद्धासुमन आप ने पंजाब में शेष बचे चार लोकसभा उम्मीदवारों की घोषणा की आप उम्मीदवार उमेश मकवाना ने भगवंत मान की मौजूदगी में भरा नामांकन पत्र मलायका अरोड़ा ने 'एम्प्रेस' के रूप में ईशा अग्रवाल को दिया नारीफर्स्ट ज्वेल ऑफ इंडिया का क्राउन रेलवे स्टेशन पर गुरजीत सिंह औजला के स्वागत में उमड़ा जनसैलाब कांग्रेस के सीनियर नेताओं, कार्यकर्ता और शहर वासियों ने बरसाए फूल गारंटी तो चौ. देवीलाल की थी, मोदी की तो झूठ और फरेब है: अभय चौटाला दुर्गाष्टमी के अवसर पर राजभवन में फलाहार ग्रहण कार्यक्रम का आयोजन एलपीयू ने मैकरॉन के सबसे बड़े डिस्प्ले के साथ विश्व रिकॉर्ड बनाया योग से मेरे जीवन में बदलाव आया-समायरा संधू सीजीसी के बायोटेक्नोलॉजी डिपार्टमेंट ने बायोएंटरप्रेंयूर्शिप पर इवेंट आयोजित किया डिप्टी कमिश्नर कोमल मित्तल ने जिला बाल सुरक्षा यूनिट व बाल कल्याण कमेटी के कामकाज की समीक्षा की

 

सुख चाहिए तो वेद को जाने- धर्म ही सुख का मूल है

सुख चाहिए तो वेद को जाने- धर्म ही सुख का मूल है
Listen to this article

Web Admin

Web Admin

5 Dariya News

जीन्द , 08 Aug 2016

सफीदों रोड़ आर्य समाज में आयोजित साप्ताहिक यज्ञ एवं सत्संग के दौरान मुख्य वक्ता के रुप में बोलते हुए धर्मवीर आर्य ने कहा कि यदि व्यक्ति को सुख चाहिए तो वेद को जानना जरूरी है। वेद को जाने बगैर ना तो धर्म को परिभाषित किया जा सकता और ना ही सुख की प्राप्ति हो सकती है। उन्होंने बताया कि यज्ञ भारतीय संस्कृति का मूल है। वेदों में यज्ञ की महीमा का खूब बखान है। यदि कोई भी मत पंथ या संप्रदाय यज्ञ आदि धार्मिक क्रियाओं को छुड़वाने का काम करता है तो वह सनातन विरोधी है। उन्होंने बताया कि सनातन धर्म विज्ञान पर आधारित है और यज्ञ भी एक वैज्ञानिक प्रक्रिया है जिसके माध्यम से न केवल मनुष्य की आत्मा शुद्ध होती है बल्कि वायुमंडल शुद्ध होता है जिसके माध्यम से जल और जल से अन्न और अन्न से मन की शुद्धि होती है। यह पूरी तरह से वैज्ञानिक प्रक्रिया है सुख की इच्छा रखने वाले प्रत्येक व्यक्ति को चाहिए कि वह वेद को जानें  व अपने घर पर यज्ञ अवश्य करवाएं। इस अवसर पर विकास विजयराज, मास्टर अनिल, दीपक बिड़ान, सुनील चहल, दीपांशु दूहन, वीरेंद्र सैनी, सत्यवान देशवाल, तेजस आर्य, गीता सैनी, राकेश बेनीवाल, सुनील बडगुजर, अभिषेक दातन, सावित्री देवी, मनीषा आर्या व श्रुति आर्या आदि मुख्य रुप से उपस्थित थे जिन्होंने प्रति माह घर पर यज्ञ करवाने का संकल्प लिया।

 

Tags: DHARMIK

 

 

related news

 

 

 

Photo Gallery

 

 

Video Gallery

 

 

5 Dariya News RNI Code: PUNMUL/2011/49000
© 2011-2024 | 5 Dariya News | All Rights Reserved
Powered by: CDS PVT LTD