Updated on May 26, 2017 17:29:15

 

 

जरूर पढ़ें > नासा

 

08-Apr-2017 वाशिंगटन

बड़ा क्षुद्रग्रह 19 अप्रैल को पृथ्वी के करीब से गुजरेगा

तीन साल पहले ढूंढ़ा गया 650 मीटर आकार का क्षुद्रग्रह 19 अप्रैल को पृथ्वी के नजदीक से सुरक्षित गुजरेगा। अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा ने यह जानकारी दी। क्षुद्रग्रह पृथ्वी से लगभग 18 लाख किलोमीटर की दूरी से गुजर सकता है। यह दूरी पृथ्वी तथा चंद्रमा के बीच की...

31-Mar-2017 वाशिंगटन

मंगल का अधिकांश वायुमंडल अंतरिक्ष में विलुप्त : नासा

अमेरिका अंतरिक्ष एजेंसी नासा के नए निष्कर्षो ने खुलासा किया है कि सौर वायु और विकिरण मंगल ग्रह पर जीवन अनुकूल वातावरण को बर्बाद करने के लिए जिम्मेदार हैं, जिसके कारण अरबों साल पहले मंगल पर जीवन पनपने में बाधा आई और यह ग्रह एक बंजर रेगिस्तान में बदल गया। अमेरिका...

25-Feb-2017 न्यूयार्क

नासा का खोया गुब्बारा अंटार्कटिका से बरामद

वैज्ञानिकों ने फुटबॉल के मैदान के आकार के एक गुब्बारे को उसकी उड़ान के एक साल बाद अंटार्कटिका से बरामद कर लिया है जिसके नीचे एक टेलीस्कोप लटका हुआ था। अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा के मुताबिक इस गुब्बारे को साल 2016 की जनवरी में अंटार्कटिका महाद्वीप के 39 किलोमीटर...

19-Feb-2017 न्यूयॉर्क

आईएसएस में सुपरबग के उत्परिवर्तनका अध्ययन करेगी नासा

अंतर्राष्ट्रीय अंतरिक्ष केंद्र (आईएसएस) जैसे एक शून्य गुरुत्वाकर्षण वाले वातावरण में एंटीबायोटिक रोधी सुपरबग भेजने से नासा को यह समझने में मदद मिलेगी कि सुपरबग आखिर किस तरह उत्परिवर्तित होकर उपलब्ध एंटीबायोटिक्स के लिए प्रतिरोधी हो जाता है। भारतीय मूल के एक शोधकर्ता...

16-Feb-2017 न्यूयॉर्क

137 सालों में तीसरा सबसे गर्म महीना रहा जनवरी-2017 : नासा

नासा के वैज्ञानिकों के अनुसार जनवरी 2017 को आधुनिक रिकॉर्ड मापकों के जरिए 137 सालों में तीसरा सबसे ज्यादा गर्म जनवरी के रूप में दर्ज किया है। यह पिछले साल की तुलना में थोड़ा ठंडा रहा। इसका तापमान साल 2007 के जनवरी महीने की तरह रहा। न्यूयॉर्क के नासा के गोडार्ड...

06-Jan-2017 वाशिंगटन

आकाशगंगा में रहस्यमयी रेडियो सिग्नल का पता चला

अंतरिक्ष-विज्ञानियों ने सुदूर आकाशगंगा में एक रहस्यमयी रेडियो संकेत का पता लगाया है, जो धरती से तीन अरब प्रकाशवर्ष की दूरी पर है। खुशी की बात यह कि इन अंतरिक्ष-विज्ञानियों में एक भारतवंशी भी शामिल हैं। ये संकेत काफी दुर्लभ है और कॉस्मिक रेडियो तरंगों का संक्षिप्त विस्फोट...

20-Nov-2016 वाशिंगटन

नासा ने 'अगली पीढ़ी' का मौसम उपग्रह छोड़ा

अमेरिका ने 'अगली पीढ़ी' के एक मौसम उपग्रह को फ्लोरिडा के केप केनवरल वायुसेना अड्डे से शनिवार 6.42 बजे (भारतीय समयानुसार रविवार सुबह 5.12 बजे) छोड़ा। नासा ने कहा है कि इससे मौसम का सटीक अनुमान लगाने, निगरानी और तूफान की चेतावनी में मदद मिलेगी। अमेरिकी अंतरिक्ष...

13-Nov-2016 न्यूयॉर्क

68 सालों के बाद पृथ्वी के करीब आएगा चंद्रमा : नासा

अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा ने कहा है कि सोमवार को निकलने वाला पूर्ण चंद्रमा (सुपरमून) पिछले 69 सालों के बाद पृथ्वी के सबसे करीब होगा। नासा ने यह भी कहा है कि पृथ्वी के लोगों को इस तरह की घटना के दीदार के लिए साल 2034 तक इंतजार करना पड़ सकता है।पृथ्वी के चारों...

03-Nov-2016 वाशिंगटन

विश्व की सबसे बड़ी अंतरिक्ष दूरबीन का निर्माण पूरा

अमेरिका की अंतरिक्ष विज्ञान एजेंसी नासा ने विश्व की सबसे बड़ी अंतरिक्ष दूरबीन का निर्माण कार्य पूरा कर लिया है। जेम्स वेब स्पेस टेलीस्कोप को नासा के 26 वर्ष पुराने हबल अंतरिक्ष दूरबीन का उत्तराधिकारी कहा जा रहा है। नासा ने कहा कि एरियन 5 रॉकेट इसे फ्रेंच गुएना...

13-Sep-2016 न्यूयॉर्क

अगस्त, 2016 में सबसे ज्यादा गर्म रही दुनिया

नासा वैज्ञानिकों द्वारा वैश्विक तापमान के मासिक विश्लेषण के अनुसार, 136 वर्षो में विश्व अगस्त, 2016 में सबसे ज्यादा गर्म रहा। नासा ने सोमवार को एक बयान में कहा, पिछले सबसे ज्यादा गर्म रहे अगस्त 2014 की तुलना में बीते महीने तापमान 0.16 सेल्सियस ज्यादा गर्म...

07-Sep-2016 वाशिंगटन

अभियान 48 के अंतरिक्ष यात्री पृथ्वी पर सुरक्षित उतरे

अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा के एक्सपेडिशन 48 के अंतरिक्ष यात्रियों का तीन सदस्यीय दल अंतर्राष्ट्रीय अंतरिक्ष केंद्र (आईएसएस) पर 172 दिनों का मिशन पूरा कर बुधवार को सुरक्षित पृथ्वी पर लौट आया। नासा के जेफ विलियम्स और रूसी अंतरिक्ष एजेंसी रॉस्कॉस्मोस के एलेक्सी...

13-Aug-2016 न्यूयार्क

शुक्र ग्रह पर मौजूद था जीवन : नासा

इस समय शुक्र ग्रह (वीनस) का तापमान 462 डिग्री सेल्सियस है, और यहां जलवाष्प भी मौजूद नहीं है। यहां जीवन की कल्पना करना भी संभव नहीं है, लेकिन अनुमान है कि दो अरब साल तक पहले तक इस ग्रह पर जीवन रहा होगा। न्यूयार्क में नासा के गोडार्ड इंस्टीट्यूट फॉर स्पेस...

10-Aug-2016 वाशिंगटन

मंगल मिशन के पर्यावास विकास के लिए 6 कंपनियों का चयन

लाल ग्रह के लिए मनुष्य की उड़ान के लिए अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा ने छह अमेरिकी कंपनियों को अंतरिक्ष में मानव अवधारणाओं के अनुरूप पर्यावास विकसित करने के लिए चुना है। इसके लिए एजेंसी ने एक बोली में भाग लिया। इससे धरती से परे मंगल की यात्रा करने वाले वैज्ञानिकों...

07-Aug-2016 न्यूयार्क

नासा ने रॉकेट बूस्टर परीक्षण का वीडियो जारी किया

अमेरिका की अंतरिक्ष एंजेसी नासा ने एक और उपलब्धि अपने नाम कर ली है। नासा ने एक नए कैमरे की मदद से अत्यधिक धीमी रफ्तार में रॉकेट मोटर परीक्षण करता हुआ एक वीडिया जारी किया है। वेबसाइट 'स्पेस डॉट कॉम' की रविवार को प्रकाशित रिपोर्ट के अनुसार, इस वीडियो में अमेरिकी...

18-Jul-2016 वाशिंगटन

नासा सौर मंडल की जानकारी जुटाने में जुटा

पूरा विश्व बृहस्पति ग्रह की करीब से ली गई तस्वीरों का दीदार करने के लिए 27 अगस्त का इंतजार कर रहा है, लेकिन नासा लगातार 'हम कहां से आए हैं, कहां जा रहे हैं तथा क्या हम ब्रह्मांड में अकेले हैं' जैसे मौलिक सवालों के जवाब ढूंढ़ने और सौर मंडल की जानकारी जुटाने...

10-Jul-2016 वाशिंगटन

अंतर्राष्ट्रीय अंतरिक्ष केंद्र पहुंचे 3 नए अंतरिक्ष यात्री

अंतर्राष्ट्रीय अंतरिक्ष केंद्र में अंतरिक्ष यात्रियों की संख्या बढ़कर छह हो गई है। अंतरिक्ष अभियान एक्सपीडिशन 48 के चालक दल के तीन सदस्य महत्वपूर्ण शोध के लिए रविवार को अंतरिक्ष में कक्षा में चक्कर लगा रहे इस प्रयोगशाला में पहुंचे। अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा की अंतरिक्ष...

05-Jul-2016 वाशिंगटन

बृहस्पति की कक्षा में 'जूनो' ने किया प्रवेश

अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा का सौर ऊर्जा संचालित अंतरिक्ष यान जूनो ने बृहस्पति की कक्षा में प्रवेश कर लिया है। जूनो के बृहस्पति की कक्षा में प्रवेश करते ही नासा की जेट प्रोपल्सन लैबोरेटरी में जश्न का माहौल छा गया। पांच साल की अवधि का सफर पूरा कर जूनो अब गैस...

04-Jul-2016 न्यूयॉर्क

नासा का 'जूनो' बृहस्पति के करीब

अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा के अंतरिक्ष यान जूनो अपनी पांच वर्ष से अधिक की यात्रा के बाद अब अपने अंतिम गंतव्य बृहस्पति तक पहुंचने के करीब है और इसने हमारे सौर मंडल के सबसे बड़े ग्रह के चारों ओर परिक्रमा लगाना शुरू कर दिया है।नासा की जेट प्रोपल्सन लैबोरेटरी...

24-Jun-2016 वाशिंगटन

2021 तक काम करेगा हबल टेलीस्कोप : नासा

अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा ने गुरुवार को कहा कि उनका हबल स्पेस टेलीस्कोप 2021 तक कक्षा में काम करता रहेगा। इस टेलीस्कोप का जीवनकाल 26 साल है। नासा ने एक बयान में कहा कि हबल को बाल्टीमोर स्थित स्पेस टेलीस्कोप साइंस इंस्टीट्यूट को समर्थित करते हुए हबल वैज्ञानिक...

14-Jun-2016 वाशिंगटन

2 सूर्यो के चक्कर लगाने वाले ग्रह की खोज

मैरीलैंड के गोडार्ड स्पेस फ्लाइट सेंटर के खगोल वैज्ञानिकों के एक दल ने नासा के केपलर स्पेस टेलीस्कोप के आंकड़ों की सहायता से बृहस्पति के समान एक विशाल ग्रह की खोज की है, जो दो सूरज की एक साथ परिक्रमा कर रहा है।सिग्नस तारामंडल में स्थित केपलर-1647बी 3,700 प्रकाश...

14-Jun-2016 न्यूयार्क

मंगल ग्रह पर मौसमी धूल भरी आंधी का दौर : नासा

नासा के मार्स आर्बिटर ने पहली बार लाल ग्रह पर मौसमी धूल भरे तूफान का खुलासा किया है। इससे वैज्ञानिकों को भविष्य के रोबोटिक या मानव मिशन के मद्देनजर संभावित खतरनाक घटना को भांपने में मदद मिलेगी। दशकों से मंगल ग्रह के धूल भरे तूफान के पैटर्न को समझने के लिए...

07-Jun-2016 वाशिंगटन

जलवायु परिवर्तन के कारण उत्तरी ध्रुव हरा हो रहा : नासा

उपग्रह से मिले 19 साल के आंकड़ों का इस्तेमाल करके अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा के वैज्ञानिकों ने कहा है कि उत्तरी ध्रुव के आस पास के क्षेत्रों में बहुत अधिक हरियाली पाई गई है। इसकी वजह बढ़ता तापमान है। अध्ययन में कहा गया है कि उत्तरी अमेरिका के उत्तरी छोर पहले...

28-May-2016 वाशिंगटन

एक्सपेंडेबल हैबिटेट विस्तारित करने का नासा का दूसरा प्रयास

गहन अंतरिक्ष अन्वेषणों को अंजाम देने के लिए निर्मित पहले एक्सपेंडेबल हैबिटेट को तैनात करने की प्रथम कोशिश विफल होने के बाद अब नासा शनिवार को दूसरे प्रयास के लिए तैयार है। अमेरिकी एजेंसी ने कहा है कि आंतरिक दबाव के साथ मॉड्यूल की लंबाई और व्यास न बढ़ पाने...

12-May-2016 वाशिंगटन

ड्रैगन मालवाहक यान अंतरिक्ष से लौटा

अमेरिकी अंतरिक्ष निर्माता कंपनी स्पेसएक्स का ड्रैगन मालवाहक (कार्गो) यान बुधवार को अंतर्राष्ट्रीय अंतरिक्ष केंद्र की यात्रा कर एक माह बाद पृथ्वी पर लौट आया है।अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा ने बताया कि यह मानवरहित अंतरिक्ष यान प्रयोगशाला से सुबह 9:19 पर निकला...

11-May-2016 वाशिंगटन

नासा के केपलर ने 1200 से अधिक ग्रह खोजे

नासा के महत्वाकांक्षी केपलर मिशन के तहत 1,284 नए ग्रहों की खोज की गई है। यह ग्रहों के लिए की जाने वाली अब तक की सबसे बड़ी और एकल मिशन की खोज है। जो पृथ्वी के समान ग्रह ढूंढ़ने के लिए वैज्ञानिकों में आशा की एक नई किरण जगाती है। अमेरिका की प्रिंसटन युनिवर्सिटी...

09-May-2016 वाशिंगटन

नासा ने मुफ्त उपयोग के लिए 56 पेटेंट सार्वजनिक किए

अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा ने अपनी 56 पूर्व पेटेंट प्रौद्योगिकियों को सार्वजनिक कर दिया है, जिसके तहत अब सरकारी कंपनी द्वारा निर्मित इन प्रौद्योगिकयों का सार्वजनिक तौर पर मुफ्त व्यवसायिक इस्तेमाल किया जा सकेगा। नासा के टेक्नोलॉजी ट्रांसफर प्रोग्राम एक्जीक्यूटिव...

30-Apr-2016 वाशिंगटन

चांद के टैटू का खुला राज

नासा के नए शोध से चांद के रहस्यमयी टैटू के बारे में जानकारी मिली है जो इसकी सतह के 100 से ज्यादा हिस्सों में अंधेरों और रोशनी के पैटर्न के रूप में नजर आती है। नासा के मैरीलेंड के ग्रीनबेल्ट में स्थित गोदार्द स्पेस फ्लाइट सेंटर के जॉन केलर ने बताया, "इन पैटर्न...

30-Apr-2016 लंदन

अंतरिक्ष में अकेले नहीं हैं हम!

हाल के खोजों से हमारे आसपास कुछ उच्च तकनीकी सभ्यताएं भी होने की उम्मीदें बढ़ गई है। एक नए शोध में बताया गया है कि मानव जाति ब्रहांड का अकेला या पहला उन्नत सभ्यता नहीं है। रोचेस्टर विश्वविद्यालय के भौतिकी और खगोल विज्ञान के प्रोफेसर एडम फ्रैंक का कहना है,...

28-Apr-2016 वाशिंगटन

'अंतरिक्ष क्षेत्र में चीन को भागीदार मानता है नासा'

अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी के प्रमुख ने बुधवार को कहा है कि नासा नागरिक अंतरिक्ष क्षेत्र में चीन को खतरे के रूप में नहीं, बल्कि संभावित भागीदार के रूप में देखता है। नासा के प्रशासक चार्ल्स बोल्डन ने वाशिंगटन स्थित थिंक टैंक सामरिक एवं अंतर्राष्ट्रीय अध्ययन केंद्र...

15-Apr-2016 वाशिंगटन

नासा के अंतरिक्ष यान शनि ग्रह पर धूल का पता लगाया

अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा के कैसिनी अंतरिक्ष यान ने पहली बार सौर मंडल में आने वाले धूल कणों का पता लगाया है। यह यान शनि ग्रह की कक्षा (ऑरबिट) में चक्कर लगा रहा है। शनि ग्रह की कक्षा से गुजरने वाले धूल कणों की तीव्रता 72,000 किलोमीटर प्रति घंटा है। कैसिनी...

view more >>

 

 

 

Photo Gallery

 

 

Video Gallery